शहर में आये दिन मजदूरों के साथ होने वाली लूट का आरोपी गिरफतार
Date : Friday, June 22, 2018

शहर बांसवाड़ा में आये दिन मजदूरी दिलाने का झांसा देकर उनके साथ लूट की वारदाते होने की सूचना प्राप्त हो रही थी । जिस पर श्री वीराराम पुलिस उप अधीक्षक, बांसवाडा के सुपरविजन में श्री शैतानसिंह, थाना अधिकारी कोतवाली के नेतृत्व में श्री उदयसिंह उप निरीक्षक, श्री नारायणसिह सउनि. श्री पृथ्वीपालसिंह कानि. 775, श्री हेमेन्द्रसिंह कानि.803 , श्री जेठाराम कानि. 485 की एक विशेष टीम गठित की गई । पुलिस टीम द्वारा जगह-जगह मूखबिर मामूर कर तकनिकी विश्लेषण किया जाकर आ-सूचना संकलित की गई । जिस पर आ-सूचना मिली की मुल्जिम शारीरिक रूप से कमजोर, कम उम्र या अधिक उम्र वाले व जिन्होने सोने के आभूषण पहन रखे हो, उन लोगो को निशाना बना कर उनके साथ लूट की वारदात को अंजाम देता है तथा संदिग्ध व्यक्ति जो एक ही तरह की वारदातों का अंजाम देता है। जिस पर पुलिस टीम द्वारा शहर में लगे विभिन्न सी.सी.टी.वी. फूटेज खंगाले तो पुलिस टीम को संदिग्ध व्यक्ति का फूटेज मिले । जिस पर संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ने के लिये पुलिस टीम द्वारा बोगस मजदूर तैयार किया जो शारीरिक रूप से थोडा कमजोर दिखता था, उसे मजदूर का भेष बनाकर कान मे सोने की बाली पहनाकर धनावाव आजाद चौक मे खड़ा किया । पुलिस टीम द्वारा चारो तरफ संदिग्ध व्यक्तियों पर नजर रख रही थी, उसी समय एक सदिग्ध व्यक्ति धनावाव आजाद चौक पर आया और पुलिस द्वारा सादा वस्त्रधारी जो मजदूर के भेष मे था। उसके पास आया और काम कराने के बहाने उसको लेकर जाने लगा। जिस पर पुलिस टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुये संदिग्ध व्यक्ति को घेराबन्दी कर पकडा पुलिस टीम द्वारा संदिग्ध व्यक्ति से पूछताछ पर उसने अपना नाम जीतु उर्फ जीतमल, जाति कटारा आदिवासी, उम्र 18 साल, निवासी गौरछा, थाना भूंगड़ा बासवाडा बताया । उसने बताया कि गलत तरह की आदते पाल रखी है। इस वजह से अपने मौज-शौक पूरे करने के लिये ऐसी गम्भीर हरकते करता है । आरोपी ने बताया की उसने विगत 2 सालो मे बासवाडा जिले मे करीब आधा दर्जन से अधिक अन्य वारदातो को अन्जाम दिया है। आरोपी आदतन अपराधी है । आरोपी के विरूद्व प्रकरण संख्या 194/11.4.2016 धारा 394,34 भादस दर्ज हो जिसमे आरोपी 4 माह जेल काट कर आया है । आरोपी से सख्ती से पूछताछ की तो निम्नानुसार घटना करना स्वीकार की गई:- 1.दिनांक 19.6.2018 को हुकिया पिता रंगजी, मीणा, उम्र 45 साल, निवासी बरथलिया, थाना आम्बापुरा, बांसवाडा ने रिपोर्ट दर्ज कराई की मैं आजाद चौक धनावाव मे मजदूरी करने हमेषा आता हॅू। दिनांक 8.4.18 को मजदूरी हेतु आया था। उस समय एक लड़का मेरे पास आया और मुझे कहा की मेरे खेत पर झोपडी बनाना है। इस लिये पेड की छटनी करनी है। यह कह मुझे अब्दुल्ला पीर दरगाह के पास ले गया। वहा ऐकान्त मे मेरे से सोने की बाली 200 रूपये टिफीन लेकर भाग गया। 2.दिनांक 19.06.2018 को प्रार्थी नाथु पिता हुरजी, मीणा, उम्र 52 साल, निवासी हेमपुरा ,भण्डारीया, ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि मै दिनांक 16.5.18 को मजदूरी हेतु धनावाव आजाद चौक खडा था। इतने मे कोई अज्ञात लडका मेरे पास आया और मुझे कहा की मेरे खेत पर झोपडी बनाना है इसलिये पेड को छागना है। यह कह मुझे अब्दुल्ला पीर दरगाह के पास ले गया। वहा ऐकान्त मे मेरे से सोने की बाली लेकर भाग गया। 3.दिनाक 20.6.2018को प्रार्थी श्री विनोद पिता षान्तिलाल चरपोटा उम्र 16 साल निवासी झरी थाना बांसवाडा ने रिपोर्ट दर्ज कराई की लगभग दो माह पूर्व मै किसी काम से बांसवाडा शहर आया था तो आजाद चौक पर खडा था कि एक अज्ञात लडका मेरे पास आया व कहा की तुझे काम पर लेकर चलता हॅू और 300 रूपये दिलाउगा और मुझे अब्दुल्ला पीर की तरफ ले गया वहा जाकर मेरे कानो के लोगं निकाल लिये और वहा से चला गया। जिस पर आज दिनांक 21.06.2018 को जीतु उर्फ जीतमल, जाति कटारा आदिवासी, उम्र 18 साल, निवासी गौरछा, थाना भूंगड़ा बासवाडा को गिरफ्तार किया गया । (कालूराम रावत) पुलिस अधीक्षक